Monday, 21 November 2016

चौधरी सुरेंद्र सिंह के जन्मदिवस पर हुआ कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन

चौधरी सुरेंद्र सिंह के जन्मदिवस पर हुआ कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन
-अशोक तंवर, कैप्टन अजय सिंह यादव व किरण चौधरी ने की शिरकत
जींद। सफीदों रोड स्थित एकलव्य स्टेडियम में पूर्व मंत्री स्वर्गीय चौधरी सुरेंद्र सिंह के जन्मदिवस पर आयोजित दो दिवसीय सर्कल कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्यातिथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर व विशिष्ठ अतिथि के रूप में पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव ने शिरकत की। जबकि आयोजन की अध्यक्षता कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने की। इस मौके पर बोलते हुए अशोक तंवर ने कहा कि एसवाईएल मुद्दे पर कांग्रेस की बैठक हो चुकी है। जल्द ही कांग्रेस राष्ट्रपति से मिलकर केंद्र सरकार से एसवाइएल नहर का निर्माण पूरा करवाने की मांग करेगी। भाजपा तथा अकाली दल की पंजाब में सरकार है और यहां भी बीजेपी व इनेलो की सांठ-गांठ है। इसलिए एसवाईएल निर्माण में कोई अड़चन नहीं आनी चाहिए। 
(MOREPIC1)  
कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नोटबंदी का जो ड्रामा रचा है, इससे केवल आम जनता ही परेशान हो रही है। जिनके पास काला धन है, उनको इसे ठिकाने लगाने का भी पता है। तमिलनाडु में नोटबंदी के बाद भी 500-500 करोड़ रुपये की शादियां हो रही हैं, जिन पर सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है। एसवाईएल पर किरण चौधरी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बंसीलाल ने हरियाणा में एसवाईएल नहर बनाने का 95 प्रतिशत काम पूरा कर दिया था। केंद्र सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि हरियाणा को उसके हक का पानी दिलाए।
(MOREPIC2)  
पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव ने कहा कि स्वर्गीय चौधरी सुरेंद्र सिह एक महान सख्सियत थे। उनकी खास बात यह थी कि वे सभी कार्यकर्ताओं को नाम से जानते थे। मेरे बडे ही अच्छे मित्र थे। एसी सख्सियत को कभी नही भुलाया जा सकता । भाजपा पर कटाक्ष करते हुए श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार केवल पूंजीपतियों की सरकार है। पूंजीपतियों के तो भाजपा कर्जे माफ कर रही है, लेकिन गरीब लोगों का कोई पैसा माफ नहीं किया जा रहा है। लोगों को अपनी मेहनत का पैसा लेने के लिए लाइन में लगना पड़ रहा है। नोटबंदी को लेकर सरकार ने कोई योजना नहीं बनाई, जिसका खामियाजा आम जनता भुगत रही है। एसवाईएल के मुद्दे पर बोलते हुए कैप्टन अजय सिंह यादव ने कहा कि पूर्व फैसला हरियाणा के पक्ष में आया है, तो हरियाणा को उसके हक का पानी मिलना चाहिए।
Post a Comment