Monday, 21 November 2016

अधिनियमों के सख्ती से क्रियान्वयन करके लिंगानुपात में सुधार दर्ज करने के लिए सराहना की वीडियो कांफ्रैंसिंग के माध्यम से

कैथल, 21 नवम्बर (AHN ) मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के सभी उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पीएनडीटी एवं एमटीपी अधिनियमों के सख्ती से क्रियान्वयन करके लिंगानुपात में सुधार दर्ज करने के लिए सराहना की है। गत एक नवंबर को गुरूग्राम में हरियाणा स्वर्ण जयंती उत्सव के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश वासियों को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सराहनीय कार्य करने के लिए प्रशंसा की थी।
यह अभिव्यक्ति मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. राकेश गुप्ता ने प्रदेश भर के उपायुक्तों व पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कांफ्रैंसिंग के माध्यम से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत एमटीपी एंड पीएनडीटी अधिनियमों के क्रियान्वयन की समीक्षा करते हुए व्यक्त की। उन्होंने कहा कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार प्रदेश में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर जींद एवं पानीपत जिलों में गांव अनुसार एवं नगर पालिका क्षेत्र अनुसार लिंगानुपात के आंकड़ों को एकत्रित करके आम पब्लिक के लिए ऑनलाईन करने का कार्य जारी है। उन्होंने इन दोनों जिलों में इस दिशा में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की तथा कहा कि प्रत्येक माह की 15 तारीख तक गत माह के आंकड़ों को अपलोड करने का कार्य पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि आदर्श लिंगानुपात 950 माना जाता है। सभी जिलों के अधिकारी इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए निरंतर एवं सार्थक प्रयास करें। प्रदेश सरकार द्वारा मई 2015 से पीएनडीटी एवं एमटीपी अधिनियमों के सख्ती से क्रियान्वयन के बारे में विशेष अभियान लगातार चलाया जा रहा है। 
श्री राकेश गुप्ता ने कहा कि प्रदेश के साथ लगते राज्यों दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पंजाब के अधिकारियों से बातचीत करके पड़ौसी राज्यों में लिंग पहचान टैस्ट पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इन राज्यों के उच्च अधिकारियों से बातचीत करके वांछित सहयोग की अपील की जाएगी, ताकि प्रदेश के लिंगानुपात को सुधारा जा सके तथा पडौसी राज्यों में ऐसे टेस्टों पर रोक लगाने के लिए कड़ी कार्रवाई की जा सके। 
उन्होंने जिला कैथल में लिंगानुपात की समीक्षा करते हुए कहा कि जिला में इस दिशा में अच्छा कार्य हुआ है तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा लगातार इस दिशा में अच्छे प्रयास किए गए हैं। उन्होंने उपायुक्त श्री संजय जून को संबंधित अधिकारियों की बैठक आयोजित करके उन्हें लिंगानुपात के सही आंकड़े समय पर उपलब्ध करवाने के निर्देश देने को कहा। 
उन्होंने कहा कि गत दिनों दिल्ली सरकार ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया है कि लिंगानुपात को सुधारने तथा कन्या भ्रूण हत्या जैसे मामलों में दिल्ली सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा।
(MOREPIC1)  
उपायुक्त श्री संजय जून ने कहा कि जिला में लिंगानुपात में सुधार करने तथा प्रसव पूर्व लिंग जांच एवं कन्या भ्रूण हत्या जैसे अवैध कार्यों में संलिप्त व्यक्तियों के खिलाफ आगे भी रेड जारी रहेंगी। उन्होंने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा नियमित अंतराल पर रेड की जाती है। जिला में इन अधिनियमों के तहत दर्ज मामलों में अपराध स्थापन की दर बढ़ी है। पुलिस अधीक्षक श्री सुमेर प्रताप सिंह ने कहा कि पुलिस द्वारा लगातार स्वास्थ्य विभाग की टीम को पूरा सहयोग दिया जा रहा है तथा आगे भी स्वास्थ्य विभाग के साथ पूरा तालमेल रहेगा।

इस अवसर पर पुलिस उपाधीक्षक जोगिंद्र सिंह, सतीश गौतम, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी प्रतीक हरिश, सिविल सर्जन डा. मनीष बंसल, उप सिविल सर्जन डा. नीलम कक्कड़, जिला न्यायवादी आरके कुकरेजा, उप जिला न्यायवादी जनक राज चौपड़ा चोपड़ा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Post a Comment