Thursday, 22 December 2016

नसीब जंग का इस्तीफा ,या बीजेपी की चाल


नसीब जंग का इस्तीफा ,या बीजेपी की चाल 
दिल्ली (AHN ) विवादों में रहने वाले दिल्ली के उपराज्यपाल नसीब जंग ने अचानक अपने पद से इस्तीफा देकर सनसनी फैला दी ,नसीब जंग का अभी डेढ़  साल का कार्यकाल बकाया है लेकिन अचानक लिए इस फैंसले के पीछे क्या कारण है अभी सामने नहीं आया नजीब जंग जुलाई 2013 को दिल्ली के उप-राज्यपाल नियुक्त किए गए थे. जंग ने अपना इस्तीफा केंद्र सरकार को भेज दिया है.

(MOREPIC1)
इस्तीफे के बाद नसीब जंग ने कहा की वो फिर से शिक्षा के क्षेत्र  में जाना चाहते है ,उपराज्यपाल बनने से पहले नजीब जंग जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के कुलपति थे.नजीब ने अपने पद से इस्तीफा देने का बाद सबसे पहले दिल्ली की जनता को धन्यवाद कहा. साथ ही जंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी सहयोग के लिए शुक्रिया अदा किया.उपराज्यपाल नसीब जंग  इस्तीफे के बाद राष्ट्रीय राजधानी के अगले उपराज्यपल के नाम को लेकर अटकलों का दौर शुरू हो गया है. जंग  इस्तीफे के बाद कुछ देर में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से  मुलाकात .किये जाने की सम्भावना जताई जा रही है ,नसीब जंग ने किन कारणों से पद छोड़ा यह तो मालूम नही लेकिन इस्तीफे के बाद जिस तरह नसीब जंग ने अरविन्द केजरीवाल को शुक्रिया कहा यह इस्तीफे को रोचक बना रहा है ,क्योंकि  नसीब जंग और दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार के बीच 36  का आंकड़ा चल रहा था ,दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच चल रही जंग सड़कों पर आ गई थी ,यही नहीं देश की सर्वोच्च अदालत ने उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार की लड़ाई में दाखिल की गई याचिका में कहना पड़ा था की दिल्ली की चुनी हुई सरकार के पास कुछ शक्तियां होनी जरुरी है कोर्ट की यह टिप्पणी  बहुत मायने रखती है क्योंकि  जब से दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल ने सत्ता संभाली है तब तब से नसीब जंग ने सरकार की नाक में दम करके रखा हुआ था ,सरकार के किसी भी जनहित फैंसले को लागू ना करना नसीब जंग के लिए महत्वपूर्ण बन गया था , जिसके चलते दिल्ली सरकार और नसीब जंग आये दिन आमने - सामने  एक दूसरे पर कीचड़ उछालते रहते थे

(MOREPIC2)
,आज अचानक घटे इस उपराज्यपाल त्यागपत्र को लेकर  असमंजस की स्थिति बनी हुई है क्योंकि नसीब जंग के त्यागपत्र के बाद दिल्ली में राजनीतिक गतिविदियाँ तेज हो गई है और नसीब जंग के इस्तीफे से दिल्ली सरकार और महामहिम के बीच चल रही जंग रुक गई है ऐसा लग रहा है ,सूत्रों की माने तो  नसीब जंग के अचानक दिए इस्तीफे के पीछे  उनका अपना नही बल्कि राजनीतिक कारण बताया जा रहा है क्योंकि दिल्ली की जनता ने आप पार्टी को 67 विधायक देकर दिल्ली की सत्ता में भेजा था लेकिन महामहिम और दिल्ली सरकार की लड़ाई के चलते दिल्ली के विकास कार्य रुक गए ,दिल्ली सरकार जो भी फैंसले लेती उपराज्यपाल नसीब जंग तुरन्त उसे पलट देते थे

(MOREPIC3)
,शायद यही कारण है की बीजेपी ने नसीब जंग से इस्तीफा दिलवाया है ,क्योंकि नोट बन्दी में  चंडीगढ़ की जीत बीजेपी को बहुत महत्त्व्पूर्ण मान कर चल रही है और बीजेपी चाहती है की  नोट बन्दी  में परेशान जनता खासकर दिल्ली की जनता दोनों तरफ से परेशान ना हो इसलिए नसीब जंग को दिल्ली के महामहिम पद से वापस भुला लिया जाये  ताकि भविष्य में बीजेपी दिल्ली की सत्ता वापसी पर जनता के के बीच जाकर दिल्ली सरकार से उपराज्यपाल के बजाये खुद लड़ाई लड़ सके 
Post a Comment