Tuesday, 27 December 2016

ब्लाईंड मर्डर मिस्ट्री का आरोपी गिरफ्तार ,नोट बदलने के बहाने बुला जंगल में ले जाकर मारी थी गोली ,


 
 
 
 ब्लाईंड मर्डर मिस्ट्री का आरोपी गिरफ्तार ,नोट बदलने के बहाने बुला  जंगल में ले जाकर  मारी थी गोली , 
कैथल 27 दिसम्बर (  AHN  ) कक्योर माजरा के जंगल में अज्ञात व्यक्ति द्वारा नामालुम युवक की हत्या कर शव को कार सहित जला कर खुर्द-बुर्द करने की ब्लाईंड मर्डर मिस्ट्री को सीआईए-2 पुलिस द्वारा करीब एक माह मध्य सुलझाते हुए थाना कलायत तहत गांव दुब्बल वासी आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार किए गये आरोपी ने खुद का कत्ल किए जाने की साजिश रचते हुए अपने ही गांव के एक युवक को नोटबंदी दौरान दिल्ली की एक पार्टी की करंसी बदलने का झूठा बहाना बनाकर सारी नगदी ऐंठने के जाल में फांस लिया। करंसी बदलने के लिए सुनशान जंगल की जरुरत  को समझाते हुए उसे अपने साथ में ले जाकर अचानक गोली मारकर उसकी हत्या कर दी, और शव सहित अपनी गाडी को आग के हवाले कर दिया, तथा बाद में साधु के भेष में राजस्थान में छिप कर रहने लगा। आरोपी ने कबूला कि उसने बॉलीवुड की एक मुवी तथा एक टीवी चैनल के सिरियल से प्रभावित होकर अपनी हत्या किए जाने का ड्रामा रचने के लिए वारदात को अंजाम दिया, ताकी कुछ वर्ष बाद वह अपने परिवार वालों की मार्फत अपनी  विभिन्न बैंकों तथा एल.आई.सी.  द्वारा करवाई गई अपनी कई लाईफ इंश्योरैंस की 3 करोड 25 लाख रुपया क्लेम नकदी डकार कर अय्याशी का जीवन-यापन कर सके।  आरोपी की निशानदेही पर उसके कब्जा से हत्या की वारदात में प्रयुक्त .32 बोर का अवैध पिस्तौल व 3 ङ्क्षजदा कारतूस बरामद कर लिए गऐ है। गाडी की गहनता पुर्वक जांच उपरांत जली हुई गाडी के अंदर से 2 चले हुए कारतूस के खोल व 2 कारतूस के सिक्के बरामद कर लिए गये। आरोपी द्वारा राजस्थान के एक होटल में अपनी आईडी के लिए आधार कार्ड नम्बर देने कारण वारदात का खुलाशा करने में अहम भुमिका निभाई। आरोपी मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा, जहां से व्याकप पुछताछ के लिए उसका न्यायालय से पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा।
कार्यालय पुलिस अधीक्षक में आयोजित प्रैस वार्ता दौरान एस.पी. सुमेर प्रताप सिंह  ने मिडिया को जानकारी देते हुए बताया कि 24 नवम्बर की सबुह गांव नौच में करीब 6 वर्ष से एक समाधी पर सेवा कर रहा साधु सुबह के समय ज्याणी / भिक्षा मांगने के लिए कच्चे रास्ते से गांव कक्योर जा रहा था। सुबह करीब 7 बजे जब वह कक्योर सरस्वती जंगल के नजदीक पहुंचा तो उसने देखा कि जंगल में एक कार आग लगने कारण जल रही है। बाबा के गाडी के पास पहुंचने तक गाडी पूरी तरह जल चुकी थी, जिसकी चालक सीट पर किसी नामालुम व्यक्ति का शव जला हुआ पाया गया। साधु की सुचना पर गांव के मौजिज व्यक्ति व सरपंच घटनास्थल पर पहुंचे, तथा थाना सीवन में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ नामालुम व्यक्ति की हत्या कर शव खुर्द-बुर्द करने के आरोप में 24 नवम्बर को मामला दर्ज किया गया। घटनास्थल के नजदीक से पुलिस द्वारा गाड़ी की टूटी हुई नम्बर प्लेट व अन्य साक्ष्य कब्जा पुलिस मेंं लेकर मामले की गम्भीरता को देखते हुए अभियोग सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार के सुपर्द कर दिया गया।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सीआईए-2 ईंचार्ज इंस्पेक्टर विमल के नेतृत्व में एएसआई एएसआई हवासिंह , जयभगवान, रमेश कुमार, एचसी प्रदीव व कमलजीत की टीम द्वारा 26 दिसम्बर की शाम एक माह मध्य ही ब्लाईंड मर्डर मिस्ट्री को सुलझाते हुए थाना कलायत अंतर्गत के गांव दुब्बल वासी करीब 30 वर्षीय आरोपी बलजीत को जिला जींद के थाना जुलाना तहत गांव झमौला से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी की निशानदेही पर उसके कब्जा से वारदात में प्रयोग किया गया 3 जिन्दा कारतूस सहित लाडिड मैगजीन युक्त .32 बोर का अवैध देशी कट्टा भी 27 दिसम्बर को घटना स्थल के नजदीक झाडियों से बरामद कर लिया गया। प्रोपर्टी डिलर का धंधा करने वाले करीब 30 वर्षीय आरोपी के पास की उसके गांंव का लगभग 30 वर्षीय संदीप उर्फ मिड्डी कई वर्ष से काम धंधा करता था। पुछताछ दौरान आरोपी ने कबुला कि उसने एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, एल.आई.सी, आईसीआईसीआई बैक, श्रीराम एलआईसी, न्यू जीवन आंनद आदी बैंकों से कुल 3 करोड़ 25 लाख रुपए का जीवन बीमा करवाया हुआ है। उसे लाईफ ओ.के. के एक टीवी सिरियल तथा अक्षय कुमार की अजनबी फिल्म देखकर पटकथा अनुसार खुद के कत्ल की योजना बनाई। उसके पास काम करने वाले संदीप उर्फ मिड्डी की हत्या करके स्वम् की गाडी में शव को जलाकर वारदात को अंजाम देने की योजना का ताना-बाना बन चुका था, जिसे कार्यरुप देने के लिए उसने संदीप को जंगल में ले जाने के लिए बरगलाया कि उसने दिल्ली की एक पार्टी करंसी बदलने हेतू कक्योर सरस्वती जंगल में बुलाया हुआ है, जिनसे हम धोखा से सारी नकदी हडप लेगेंं। संदीप के माता-पिता की मौत हो चुकी थी, जिसका एक भाई जींद मे रहता है तथा गांव में वह अकेला रहता था, जो सहय रुप से उसके साथ चलने को तैयार हो गया। वारदात को अंजाम देने उपरांत उसने अपनी कमीज गाडी में ही डालकर जला दी, जिस पर खुन के कुछ दाग लग गए थे, तथा मौका के नजदीक अपनी गाडी की टूटी हुई नम्बर प्लेट प्लांट कर दी, ताकी उसकी गाडी की पहचान उपरांत शव की शनाख्त बलजीत के रुप में हो सके। उसके बाद कुछ वर्ष भूमिगत रहने की अपनी योजना तहत वह बाबा के वेश में राजस्थान के चुरू व अजमेर आदी स्थानों पर भगवां पहनकर रहने लगा, परंतु उसने राजस्थान के जिला चुरु तहत राजगढ के एक होटल में अपने आधार कार्ड की आई डी देकर कमरा बुक करवा लिया। इससे पुर्व पुलिस को सहयोगी सुत्रों से जानकारी मिली थी, की कथित तौर पर मारे जा चुके बलजीत वासी दुब्बल को ङ्क्षजदा देखा गया है, जिसके बाद पुलिस द्वारा उसकी तलाश शुरु की गई थी।
आरोपी को आज अदालत में पेश कर व्यापक पुछताछ के लिए न्यायालय से पुलिस रिमांड हासिल किया जाएगा। पुलिस अधीक्षक द्वारा सीआईए-2 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार व उसकी टीम को ब्लाईंड मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने पर टीम की प्रशंसा की है।
 
Post a Comment