ATALHIND

Sunday, 15 January 2017

छात्रा कांड में 50 हजार का इनामी व मुख्य आरोपी गिरफ्तार
पानीपत हाइवे स्थित खानपुर मोड़ से किया गिरफ्तार
एसआइटी गोहाना को दो माह बाद मिली सफलता

सोनीपत। जिले के गांव भंडेरी निवासी एक छात्रा के दुष्कर्म के बाद हत्या के मामलें में पुलिस ने आज मुख्य आरोपी विक्रम को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मामले में खुलासा किया है कि आरापी विक्रम ने छात्रा के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या कर शव को गांव जौली-लाठ के पास नहर में फैंका था। जिसके बाद पुलिस ने शव की तलाश के लिए प्रयास तेज कर दिये है। वही पुलिस मुख्य आरोपी को अदालत में पेश कर रिमाड पर लेगीं। 
 डीएसपी राजीव देशवाल ने बताया है कि 12 नंवबर को राजकीय कालेज में भंडेरी गांव की रहने वाली एक छात्रा को अपहरण करने का मामला समाने आया था। जिसके बाद जब छानबीन की गई तो मामलें में दुष्कर्म के बाद हत्या की बात सामने आई थी। जिसके बाद करीब दो माह बाद मुख्य आरोपी विक्रम को गिरफतार किया गया है, क्योंकि इसकी गिरफ्तारी की देरी होने के कारण मामले ज्यादा बड़ा हो गया था। जिसके बाद विक्रम पर 50 हजार रूपये इनाम रखा गया था।  पुलिस ने शव की तलाश के प्रयास तेज कर दिये है। राजकीय कॉलेज गोहाना की छात्रा के अपहरण, दुष्कर्म और हत्या की घटना का 50 हजार रुपए का इनामी व मुख्य आरोपी विक्रम आखिरकार घटना के दो माह पुलिस के हाथ लगा। एसआइटी गोहाना टीम ने उसे पानीपत हाइवे स्थित खानपुर मोड़ के पास से पकड़ा। आरोपी ने प्राथमिक पूछताछ में इतना जरूर स्वीकारा है कि उसने छात्रा की हत्या करके शव को जवाहर लाल नेहरू (जेएलएन) नहर में फेंका था। पुलिस मुख्य आरोपी को सोमवार को अदालत में पेश करके रिमांड पर लेगी। रिमांड के दौरान पुलिस उससे पूरी सच्चाई उगलवाने की कोशिश करेगी। एसआइटी गोहाना की टीम इंचार्ज योगेंद्र सिंह के नेतृत्व में छात्रा कांड के मुख्य आरोपी गांव खानपुर कलां निवासी विक्रम सिंह को पकडऩे के लिए डेढ़ माह से दिन-रात एक किए हुए थी। आरोपी को पकडऩे के लिए दिल्ली, यूपी, चंडीगढ़ सहित हरियाणा में विभिन्न संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा चुकी थी। आखिरकार पुलिस को रविवार को अपने घर गोहाना में ही आरोपी विक्रम को पकडऩे में सफलता मिली। एसआइटी इंचार्ज योगेंद्र ने टीम के साथ विक्रम को पानीपत हाइवे स्थित खानपुर मोड़ के नजदीक से दबोचा। टीम में  एएसआई बिजेंद्र, कंवर भान सिंह, प्रदीप व महेश, हवलदार शैलेंद्र, अनुज, राजमोहन, दलबीर, संजू, विकास, नरेंद्र, सेवा, पवन व मनोज शामिल रहे। प्रारंभिक पूछताछ करने पर विक्रम ने इतना खुलासा किया है कि उसने छात्रा की हत्या करके शव को गांव न्यात से आगे जेएलएन नहर में फेंक दिया था। आरोपी ने छात्रा की हत्या कैसे की और किसके सहयोग से शव को नहर में फेंका, प्राथमिक जांच में पुलिस की क्या भूमिका रही यह सब रिमांड के दौरान पूछताछ में खुलासा होगा। सोमवार को पुलिस विक्रम को अदालत में पेश करके रिमांड पर लेगी। विक्रम को पकडऩे पर डीएसपी राजीव देशवाल ने एसआइटी टीम की पीठ थपथपाई।
गोहाना डीएसपी राजीव देशवाल ने कहा कि छात्रा घटनाक्रम में मुख्य आरोपी विक्रम को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने छात्रा की हत्या करके शव नहर में फेंकने की बात कही। शव को बरामद करने के लिए पुलिस मेहनत कर रही है। आरोपी को पकडऩे पर एसआइटी गोहाना टीम को बधाई।

 
पुलिस ने निभाया वायदा
एसपी अश्विनी शैनवी ने 3 जनवरी को गांव भंडेरी पहुंच कर छात्रा के परिजनों व आंदोलन के लिए गठित कमेटी से आरोपी को पकडऩे के लिए 15 जनवरी तक का समय मांगा था। इसके बाद उन्होंने छात्रा के केस को परिजनों की इच्छा के अनुसार किसी भी जांच एजेंसी को केस फारवर्ड करने की बात कही थी। लेकिन पुलिस ने समय पर अपना वायदा पूरा किया
Post a Comment