Monday, 20 March 2017

RAJKUMAR AGGARWAL


फतेहाबाद में जाटों और पुलिस के बीच खूनी झड़प ,आन्दोलनकारियों ने 2 पुलिस वाहन फूंके 
फतेहाबाद 19  मार्च (ब्यूरो) हरियाणा के फतेहाबाद के  गाँव  ढाणी  गोपाल में  जाटों और पुलिस की आज इतवार को हुई खुनी झपड़ के चलते विवाद उत्प्पन हो गया जिसके चलते जाट आन्दोलनकारियों ने पुलिस की 2 बसों को आग लगा दी और सेंकडो पुलिस कर्मियों को बंधक बना लिया ,प्राप्त जानकारी के अनुसार गाँव ढांणी गोपाल में जाट समुदाय के लोग प्रशासन  की हिदायत धारा 144 का उलघन कर रहे थे

जिन्हें रोकने और समझाने के लिए पुलिस प्रशांसन के डीएसपी गुरदयाल सिंह आगे आये लेकिन जाट आन्दोलनकारियों ने पुलिस के बेरिकेड्स तोड़ दिए और पुलिस कर्मियों पर पत्थरों से डीएसपी पर हमला कर दिया जिससे डीएसपी को चोटें आयीं जिन्हें अग्रोहा अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया ,जाट आन्दोलनकारियों की इस झड़प में पुलिस कर्मीयों के साथ साथ पत्रकारों को भी चोटें आयी ,यही नही आंदोलकारियों ने मीडियाकर्मियों के कैमरे और मोबाइल भी छीन कर तोड़ दिए ,जिसके चलते पुलिस को आंसूगैस का प्रयोग करना पड़ा और लाठी चार्ज भी करना पड़ा

 ,मामला सुबह शुरू हुआ जब आंदोलन कारी धारा 144 तोड़ कर आंदोलनकारी धरना स्थल पर आ रहे थे ,पुलिस के रोके जाने से नाराज आन्दोलनकारियों ने पुलिस की 2 बसों को आग के हवाले कर दिया ,हरियाणा  में जाट आंदोलन कारी आज दिल्ली कूच करने की घोषणा कर चुके है लेकिन  भूना के गाँव ढाणी में आज आन्दोलनकारियों और पुलिस के बीच हुई खूनी झड़प ने हरियाणा की जनता के दिल में फरवरी 2016  की याद ताजा कर दी और इस घटना ने एक खोप पैदा कर दिया ,बेशक सरकार और आंदोलनकारी बातचीत पर किसी मुकाम पर नही पहुंच पाए लेकिन जिला फतेहाबाद की इस घटना के बारे में शायद सरकार भी सकते में आ गई होगी 

आंदोलनकारियों द्वारा किए गए पथराव में डीएसपी गुरूदेव सिंह, इंस्पेक्टर विमला देवी, भूना एसएचओ कुलदीप सिंह सहित दर्जनों पुलिसकर्मी घायल हो गए। मौके पर तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस के जवान तैनात किए गये है।फतेहाबाद, रोहतक, झज्जर, पानीपन, सोनीपत, जींद, कुरूक्षेत्र, भिवानी, रेवाड़ी, झज्जर व कैथल आदि जिलों में धारा-144 लागू कर दिया गया है। सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही ज्वलंनशील पदार्थों व शराब की बिक्री पर भी रोक लगा दिया गया है। हालात की संवेदनशीलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 20 मार्च से शुरू हो रही सीबीएसई की परीक्षाओं में छात्र-छात्राओं से भयमुक्त होकर परीक्षा देने के लिए खुद डीपीजी को अपील करनी पड़ी है।हरियाणा के पुलिस महानिदेशक केपी सिंह ने प्रेस से बात करते हुए कहा कि हरियाणा में सभी राजमार्ग सुरक्षित हैं। 20 मार्च से प्रारम्भ हो रही सीबीएसई व अन्य परीक्षाओं में छात्र.छात्राओं को भाग लेने में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जाएगी। अभिभावकों निश्चिंत करते हुए कहा कि पुलिस ने सभी राजमार्गों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हैं। किसी भी राजमार्ग पर यातायात के संदर्भ में कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। किसी भी स्थिति में कानून व्यवस्था को बिगडऩे नहीं दिया जायेगा। पुलिस के उच्चाधिकारी लगातार परिस्थितियों पर निगाह रखे हुए हैं। कानून तोडऩे वालों पर पुलिस सख्ती के साथ कार्रवाई करेगी। 
Post a Comment